Sex positions everyone should try for good excitement – सम्भोग की मुद्राएं जिनका प्रयोग एक बार अवश्य करें

अगर आप एक ही तरह की सम्भोग की मुद्रा से उकता गए हैं और आपके सम्भोग जीवन में पहले की भांति रस नहीं रह गया है तो आपके लिए अच्छी खबर है। अगर आप अपनी सम्भोग की मुद्राओं में परिवर्तन लाते हैं तो आप अपने सम्भोग काल को काफी खुशनुमा बना सकते हैं। हमने करीब 36 ऐसी सम्भोग मुद्राएं एकत्रित की हैं जिनसे आपके मन की सारी इच्छाएं पूरी हो जाएंगी।

प्रेट्ज़ेल डिप (Pretzel dip)

करने की विधि (The method)

आप अपनी दाईं तरफ लेटें, वह घुटनों के बल आपके दाहिने पैर पर भार देगा तथा अपनी बाईं तरफ आपके बाएं पैर को लपेट लेगा।

फायदा (Advantage)

सम्भोग की इस मुद्रा से आपको डॉगी स्टाइल (doggy style) के गहरे सम्भोग का आनंद मिलेगा तथा आप इसके बावजूद आँखों का मिलन बरकरार रख सकते हैं। अपने पुरुष साथी से कहें कि अपने हाथों का अच्छे से प्रयोग करे।

फ्लैटिरॉन (Flatiron)

करने की विधि (The method)

आप चेहरे के बल बिस्तर पर लेटें। इस समय आपके पैर सीधे तथा कूल्हे थोड़े उठे हुए होंगे।

फायदा (Advantage)

इस मुद्रा से आपके जननांगों में एक अजीब सी हलचल होती है और आपको आपके पुरुष साथी का गुप्तांग सामान्य से बड़ा लगता है। धीरे झटके देने और लंबी सांसें लेने से उन्हें लंबे समय तक टिके रहने में मदद मिलेगी।

जी विज (G-Whiz)

करने की विधि (The method)

आप पीछे होकर लेटें तथा अपने दोनों पैरों को उनके दोनों कन्धों पर रखें।

फायदा (Advantage)

सम्भोग की यह मुद्रा काफी बेहतरीन है क्योंकि जब आप अपने पैर उठाती हैं तो इससे आपके जननांगों की चौड़ाई कम हो जाती है तथा इससे आपके साथी के लिए आपके जी स्पॉट (G-spot) पर निशाना साधना आसान हो जाता है। अपने साथी को एक कोने से दूसरे कोने तथा ऊपर से नीचे की मुद्रा में सम्भोग करने के लिए उकसाएं। इससे उनका गुप्तांग आपके जी स्पॉट के सीधे संपर्क में आता है।

फेस ऑफ़ (Face-Off)

करने की विधि (The method)

आपका साथी एक कुर्सी या बिस्तर के कोने पर बैठता है और आप उसकी तरफ अपना चेहरा करके उसकी गोद में बैठती हैं।

फायदा (Advantage)

सम्भोग की इस मुद्रा में आप उनके गुप्तांग के प्रवेश तथा झटकों के पूरे नियंत्रण में रहती हैं। बैठे रहने की वजह से आपको सहारा मिलता है, अतः यह मुद्रा लंबे समय तक सम्भोग करने के लिए उत्तम है। अपनी उँगलियों तथा हाथों को सारा काम करने दें। एक बार बैठ जाने के बाद आप इस प्रफायदा को और भी रोमांचक बनाने के लिए अपने या उनके शरीर के किसी भी हिस्से पर हाथ रख सकती हैं।

काउगर्ल्स हेल्पर (Cowgirl Helper)

करने की विधि (The method)

काउगर्ल की मुद्रा की तरह ही आप उनके ऊपर घुटनों के बल बैठती हैं तथा उनकी छाती पर से होते हुए उनकी जाँघों पर ऊपर नीचे फिसलती रहती हैं। पर आपका साथी आपके झटकों का सामना करने के लिए उठते वक़्त आपके थोड़े वज़न को संभालता है एवं आपके कूल्हों एवं जाँघों को पकड़ता है।

फायदा (Advantage)

सम्भोग की यह मुद्रा आपके पैरों पर कम भार डालती है जिससे कि आप सम्भोग की प्रफायदा की समाप्ति अच्छे से कर सकती हैं। इसके अलावा महिलाओं के हावी होने वाली सम्भोग की मुद्राओं से आपके साथी का वीर्यस्त्राव देर से होता है जिससे आप दोनों ही खुश रहते हैं। जननांगों के विभिन्न भागों में उत्तेजना जागृत करने के लिए बारी बारी से झटकों को धीमा एवं गहरा रखें।

लीपफ्रॉग (Leap Frog)

करने की विधि (The method)

यह डॉगी स्टाइल का एक संशोधित संस्करण है। इसके अन्तर्गत अपने हाथों और घुटनों के बल लेट जाएं और अपने कूल्हों को ऊँचा रखते हुए अपने सिर तथा हाथों को बिस्तर पर टिकाकर रखें।

फायदा (Advantage)

सम्भोग की इस मुद्रा में आपको काफी गहराई से शारीरिक आनंद की प्राप्ति होती है और आपको तकिये का सहारा लेकर सोने का मौक़ा मिलता है। अपने हाथों से अपने क्लिटोरिस (clitoris) में उत्तेजना पैदा करें।

बैले डांसर (Ballet Dancer)

करने की विधि (The method)

एक पैर पर खड़े होकर अपने साथी की तरफ देखें एवं अपने दूसरे पैर को उनकी कमर के चारों ओर लपेटें और वह आपको सहारा देंगे।

फायदा (Advantage)

एक दूसरे के चेहरे को देखने एवं भावनात्मक रूप से जुड़ने का मौक़ा मिलता है। अगर आपका शरीर काफी लोचदार है तो आप अपने पैरों को उनके कन्धों पर रखकर ज़्यादा प्रभावी सम्भोग का आनंद ले सकती हैं।

काउगर्ल (Cowgirl)

करने की विधि (The method)

आप उनके ऊपर झुकती हैं और उनकी छाती से होते हुए उनकी जाँघों पर ऊपर से नीचे फिसलती हैं। आप पीछे झुककर तथा खुद को उनकी जाँघों पर सहारा देकर उनके कूल्हों पर पड़ रहा वज़न थोड़ा कम कर सकती हैं।

फायदा (Advantage)

सम्भोग की इस मुद्रा में खुद को हावी करके आप अपने साथी का वीर्यस्त्राव काफी देर तक रोक सकती हैं और अपनी प्रफायदा में उत्तेजना भर सकती हैं। आप अपने घुटनों को फैलाकर या इन्हें अपने शरीर के पास लाकर आप दोनों के लिए नयी उत्तेजनाएं पैदा कर सकती हैं।

कॉर्कस्क्रू (Corkscrew)

करने की विधि (The method)

अपने कूल्हों और एक तरफ के प्रकोष्ठ को बिस्तर या कुर्सी के कोने पर रखें तथा अपनी जाँघों को आपस में दबाएं। आपका साथी खड़े होकर आपको पकड़ेगा तथा पीछे से आपके अंदर प्रवेश करेगा।

फायदा (Advantage)

सम्भोग की इस मुद्रा के दौरान पैरों को आपस में दबाकर रखने से सम्भोग की प्रफायदा चलने के दौरान आपकी पकड़ उनपर मज़बूत होती है। अपने साथी को सारा काम करने देने की बजाय उनकी गति से तालमेल बैठाने के लिए अपने कूल्हों को झटका देने का प्रयास करें।

व्हीलबेरो (Wheelbarrow)

करने की विधि (The method)

अपने हाथों और पैरों के बल लेट जाएं और उन्हें आपको कूल्हों से उठाने दें। इसके बाद अपनी जाँघों से उनकी कमर को कस लें।

फायदा (Advantage)

आपके हाथों के लिए काफी अच्छा व्यायाम होने के अलावा पुरुषों के हावी होने वाली यह संभोग की मुद्रा आपको अधिक गहराई से संभोग प्रदान करवाती है एवं उन्हें आपके स्तनों का दीदार काफी अच्छे से होता है। किसी मेज़ या बिस्तर के कोने में आराम करने की कोशिश करें और अपने हाथों को थोड़ा आराम प्रदान करें।

मिशनरी (Missionary)

करने की विधि (The method)

अपनी पीठ के बल लेट जाएं और उन्हें अपने चेहरे के बल अपने ऊपर लेटने दें।

फायदा (Advantage)

संभोग की यह मुद्रा आसान, गरिमामय, प्रभावी तथा काफी नयी चीज़ों से युक्त होती है। आप अपने पैरों के कोण में बदलाव करके आप दोनों को हो रही उत्तेजना में काफी वृद्धि कर सकती हैं।

डॉगी स्टाइल (Doggie style / Rear entry)

करने की विधि (The method)

अपने दोनों हाथों और पैरों के बल लेट जाएं। आपका साथी आपके पीछे घुटनों के बल बैठेगा तथा उसके शरीर का ऊपरी भाग सीधा या आपके शरीर से थोडा सा लगा हुआ होगा।

फायदा (Advantage)

संभोग की यह मुद्रा काफी गहराई से चरम आनंद की प्राप्ति करवाती है और इससे जी स्पॉट की उत्तेजना में भी बढ़ोत्तरी होती है। एक हाथ से अपने क्लिटोरिस को उत्तेजित करें या फिर अपने साथी को उँगलियों से यह काम करने को कहें।

एक्स फैक्टर (X-Factor)

करने की विधि (The method)

आपका साथी मिशनरी मुद्रा की मदद से आपके अन्दर प्रवेश करता है और फिर अपनी छाती तथा पैरों को आपके शरीर के ऊपर से इस तरह ले आता है कि उसके कूल्हे उसी जगह रहते हैं, पर उसके हाथ और पैर आपके साथ मिलकर X की आकृति का निर्माण करते हैं।

फायदा (Advantage)

संभोग की इस मुद्रा से आपको उनके शरीर का ज़्यादातर हिस्सा चलायमान प्रतीत होगा। इस अदभुत कोण का प्रयोग करते हुए उनके आपके अन्दर प्रवेश करते समय उनकी पीठ, कूल्हों और पैरों पर मालिश करें।

काबूस (The Caboose)

करने की विधि (The method)

जब वह बिस्तर या कुर्सी पर बैठा हो तो उनकी गोद में जाकर बैठ जाएं और बैठे हुए ही उन्हें पीछे से जकड़कर चम्मच की सी आकृति बना लें।

फायदा (Advantage)

संभोग की इस मुद्रा के वक्त आप अपने साथी को नहीं देख पातीं, जिसका मतलब कल्पनाएँ करना आसान है जो कि उत्सुकता में काफी वृद्धि करता है। अपने कूल्हों की मांसपेशियों को कस लें जिससे कि आप आप अपने साथी को जकड़कर सीधे रख सकें।

रिवर्स काउगर्ल (Reverse Cowgirl)

करने की विधि (The method)

वह अपनी पीठ के बल लेटेगा तथा आप उसके पैरों की ओर अपना मुंह रखकर उसके ऊपर होंगी।

फायदा (Advantage)

यह मुद्रा आपको नियंत्रण प्रदान करती है तथा इसकी मदद से आप अपनी मनचाही गति से अपने साथी को चला सकती हैं। ज़्यादा फायदा प्राप्त करने के लिए अपने घुटनों तथा पैर के अगले भाग को उनके पैरों आर जाँघों के अन्दर डालकर रखें।

स्टैंड एंड डिलीवर (Stand and Deliver)

करने की विधि (The method)

इस मुद्रा के तहत आप दोनों खड़े रहेंगे, आप कमर के नीचे से झुकी होंगी और वह आपके पीछे से आपके अन्दर प्रवेश करेगा।

फायदा (Advantage)

संभोग की इस मुद्रा के दौरान झुकने से आपकी योनि की दीवारें कस जाती हैं और घर्षण का प्रभाव ज़्यादा होता है। उन्हें अपने स्वतंत्र हाथ से अपनी क्लिटोरिस सहलाने के लिए कहें, या फिर किसी रेशमी रूमाल की मदद से अपने हाथों को ढीले रूप से बाँध लें।

स्कूप मी अप (Scoop me up)

करने की विधि (The method)

आप दोनों ही करवट लेकर लेटेंगे और एक ही दिशा में देख रहे होंगे। आप अपने घुटनों को हल्का सा ऊपर की ओर करेगी और इस दौरान वह आपके कूल्हों के पीछे से जाकर आपके अन्दर प्रवेश करेगा।

फायदा (Advantage)

संभोग की यह मुद्रा त्वचा के अधिक से अधिक संपर्क को प्रोत्साहित करती है जिससे आपकी उत्तेजना में काफी वृद्धि होती है। झटकों की तीव्रता तथा गहराई को बढाने के लिए उन्हें आपके कन्धों पर हाथ रखने के लिए कहें।

रिवर्स स्कूप (Reverse scoop)

करने की विधि (The method)

मिशनरी की मुद्रा से बिना हटे हुए अपनी बगल में करवट लें और अपने हाथों का प्रयोग अपने शरीर के ऊपरी भाग को संभालने के लिए करें।

फायदा (Advantage)

आप एक दुसरे के शरीर को पहले की तरह ही जकड़ सकते हैं और एक दूसरे की आँखों में भी झाँक सकते हैं। अपने पैरों को उनके पैरों के साथ गुत्थमगुत्था करने या उनके शरीर के निचले हिस्से को सहलाने की चेष्टा करें।

मैजिक माउंटेन (Magic mountain)

करने की विधि (The method)

आपका साथी पैरों को मोड़कर अपने हाथों का सहारा लेकर बैठेगा। आप भी ऐसा ही करेंगी तथा उनके साथ मिलन होने तक थोड़ा थोड़ा आगे बढती रहेंगी।

फायदा (Advantage)

आप दोनों ही एक दूसरे को देखकर भावनात्मक रूप से काफी तेज़ जुड़ाव महसूस करेंगे। उत्तेजना बढ़ाने के लिए अपने जननांगों को उनके कूल्हों के साथ रगड़ने की चेष्टा करें।

चेयरमैन (The chairman)

करने की विधि (The method)

वह बिस्तर के कोने पर बैठेगा और आप दूसरी ओर देखते हुए उसके ऊपर बैठेंगी।

फायदा (Advantage)

संभोग की यह मुद्रा आपके सबसे संवेदनशील हिस्से यानि कि आपके जी स्पॉट को लक्ष्य बनाएगी। यह मुद्रा जी स्पॉट के लिए काफी अच्छी है और इस दौरान आप उनके गुप्त अंगों में उत्तेजना पैदा करने का काम अपने हाथों से कर सकती हैं।अपने पैरों को बिस्तर के साथ सहारा देते हुए अपने घुटनों को अपनी छाती के पास लाएं।

काऊबॉय (Cowboy)

करने की विधि (The method)

इस मुद्रा में आप अपनी पीठ के बल लेटी रहती हैं और वह आपके ऊपर होता है। इसके बाद वह धीरे से आपके आध खुले पैरों के बीच से आपके अन्दर प्रवेश करता है।

फायदा (Advantage)

आपकी योनि की कसावट से सम्भोग की तीव्रता में काफी बढ़ोत्तरी होती है। उन्हें अपने स्तनों को सहलाने दें या फिर धीरे से उनकी कलाई को पकड़कर रखें।

गोल्डन आर्च (Golden arch)

करने की विधि (The method)

वह अपने पैरों को सीधा करके बैठता है और आप घुटनों को मोड़कर उनकी जाँघों पर बैठती हैं। आप दोनों ही पीछे की ओर झुक जाते हैं।

फायदा (Advantage)

आप दोनों को एक दूसरे के शरीर को अच्छे से देखने का मौक़ा मिलता है। आप झटकों की गहराई, गति और कोण के नियंत्रण में भी रहती हैं। उन्हें अपने हाथों से आपकी क्लिटोरिस रगड़ने के लिए कहें या फिर इसके लिए अपना ही हाथ इस्तेमाल करें। जी स्पॉट में और भी उत्तेजना पैदा करने के लिए पीछे की ओर होकर लेट जाएं।

सीशेल (The seashell)

करने की विधि (The method)

अपने पैरों को पूरा ऊपर की ओर उठाकर और टखनों को अपने सिर के पीछे बांधकर पीछे होकर लेट जाएं। वह मिशनरी मुद्रा की मदद से आपके अन्दर प्रवेश करेगा।

फायदा (Advantage)

आपके हाथ आपकी क्लिटोरिस को सहलाने के लिए स्वतंत्र होते हैं। उन्हें अपने ऊपर चढ़ाकर उत्तेजना प्रदान करें और उनके गुप्तांग को अपनी योनि के साथ रगडें। इसके बाद उन्हें थोडा नीचे आने के लिए कहें और उनके गुप्तांग के ऊपरी भाग से अपने जी स्पॉट को रगडें।

बटर चर्नर (Butter churner)

करने की विधि (The method)

अपने पैरों को उठाकर एवं मोड़कर इस प्रकार लेटें कि आपके टखने आपके सिर के दोनों तरफ हों। आपका साथी बैठकर अपना गुप्तांग आपकी योनि में प्रवेश कराएगा।

फायदा (Advantage)

आँखों का मिलन होने के अलावा आपके सिर में चढ़कर आने वाला खून आनंद में वृद्धि करेगा। उन्हें आपके मुंह में शहद या इस तरह की कोई तरल मीठी वास्तु डालने के लिए कहें। इससे आपकी और भी इन्द्रियाँ जागृत होंगी तथा आपके पूरे अनुभव में चार चाँद लग जाएंगे।

पिनबॉल विज़ार्ड (The pinball wizard)

करने की विधि (The method)

आप एक पुल की तरह की मुद्रा में आ जाएं जिससे कि आपका वज़न आपके कन्धों पर आ जाए। वह बैठी हुई अवस्था से आपके अन्दर प्रवेश करेगा।

फायदा (Advantage)

इस मुद्रा से उसे आपकी क्लिटोरिस को सहलाने में आसानी होगी तथा वह आपकी मोंस प्युबिस (mons pubis) को भी सहला पाएगा। अधिक गहराई से संभोग का आनंद लेने के लिए अपना एक पैर उनके कन्धों के ऊपर रख दें।

शैम्पेन रूम (Champagne room)

करने की विधि (The method)

वह बैठा होता है और आप उसके ऊपर दूसरी ओर देखते हुए बैठती हैं।

फायदा (Advantage)

इससे आपको उनके झटकों की गति और तीव्रता पर नियंत्रण रखने में आसानी होती है। इस मुद्रा का प्रयोग सीढ़ियों या टब (tub) के कोने में करने का प्रयास करें।

ओम (The om)

करने की विधि (The method)

वह योग की मुद्रा में पैरों को मोड़कर बैठता है और आप उसकी गोद में उसे देखते हुए बैठती हैं। अब अपने पैरों को उसके चारों तरफ मोड़ें और सहारे के लिए एक दूसरे को गले लगाएं।

फायदा (Advantage)

तांत्रिक संभोग के लिए सर्वश्रेष्ठ। इस मुद्रा का लाभ उठाने के लिए आवश्यक है कि आप झटकों से ज़्यादा हिलने डुलने पर ध्यान दें। एक दूसरे की आँखों में झांककर इस मुद्रा को और भी ज़्यादा कामुक बनाएं।

अपस्टैंडिंग सिटीजन (Upstanding citizen)

करने की विधि (The method)

आप अपने साथी के ऊपर चढ़कर उसके शरीर के चारों ओर अपने पैरों को मोड लें। इसके बाद वह खड़े होकर आपको सहारा देगा। आप बिस्तर पर सम्भोग की प्रफायदा शुरू करें और इस प्रफायदा को तोड़े बिना अपने साथी को आपको उठाने के लिए कहें।

फायदा (Advantage)

आपके साथी को अपनी जाँघों को थोड़ा सा खोलने की ज़रुरत है। घुटनों को बंद ना करें। पर अगर उनकी पीठ में दर्द है तो यह विकल्प अच्छा नहीं है। अपने साथी को आपको दीवार की तरफ धीरे से धकेलने के लिए कहें।

वेलेडिक्टोरियन (Valedictorian)

करने की विधि (The method)

मिशनरी की मुद्रा से आप अपने पैरों को उठाएं और V की मुद्रा बनाते हुए उन्हें सामने की ओर सीधा फैलाएं।

फायदा (Advantage)

इस मुद्रा से आपके शरीर का गुप्तांग से अच्छा संपर्क होगा। अपने टखनों को पकड़ने की चेष्टा करें। इससे आपको सहारा और लोच की प्राप्ति होगी।

बेली डाउन (Belly down)

करने की विधि (The method)

अपने पेट के बल लेट जाएं और अपने हाथों को पैरों के बीच रख लें। अपने पैरों को आपस में रगडें तथा अपनने कूल्हों को ऊपर नीचे करें जिससे आपकी क्लिटोरिस और अन्य जननांग आपकी उँगलियों के साथ संपर्क बना सकें।

फायदा (Advantage)

काफी मात्रा में संतुष्टि का अनुभव। पीछे की ओर से प्रवेश करने वाली अन्य मुद्राओं जैसे फ्लैटीरोन या लीपफ्रॉग के साथ इसे आसानी से जोड़ा जा सकता है।

बबल द फन (Bubble the fun)

करने की विधि (The method)

अपने शरीर को पानी में डुबो लें और पैरों को बाहर लटकाकर रखें तथा ऊपर की तरफ से अपने शरीर को रगड़ते हुए पानी के नीचे के हिस्सों की तरफ जाएं।

फायदा (Advantage)

गर्म और मीठी खुशबू से भरे पानी में स्नान करने से तनाव दूर होता है, चिंता भागती है तथा आपके मन में उत्तेजना की लहर दौड़ती है। पानी में लहरें बनाएं और अलग होने वाले शावरहेड (showerhead) का सही इस्तेमाल करें। पानी की मात्रा का क्लिटोरिस पर लगना भी काफी उत्तेजक होता है।

सर्किल पर्क (Circle perk)

करने की विधि (The method)

बैठी हुई मुद्रा में अपनी उँगलियों की मदद से अपनी क्लिटोरिस के चारों तरफ एक गोलाकार आकृति बनाएं। धीरे धीरे शुरुआत करें और प्रतिक्रया के आधार पर क्रमशः गति और दबाव में बढ़ोत्तरी करें।

फायदा (Advantage)

यह मुद्रा उन महिलाओं के लिए काफी फायदेमंद है जो क्लिटोरिस पर सीधा दबाव पड़ने से लम्बे समय तक उत्तेजना का आनंद नहीं ले पाती हैं। अगर आप गोलाकार आकृति से तंग आ गयी हैं तो अपने जी स्पॉट पर अन्य अक्षरों की कलाकारी दिखाकर उत्तेजना को बरकरार रखें।

काउच ग्राइंड (Couch grind)

करने की विधि (The method)

किसी गद्देदार कुर्सी के हाथ पर या किसी ऐसी मेज़ पर बैठें जिसके ऊपर एक मोटा तौलिया बिछा हुआ हो। सबसे पहले कूल्हों की धीमी हलचल से शुरुआत करें और धीरे धीरे गति बढ़ाएं।

फायदा (Advantage)

अगर आपको अपने क्लिटोरिस पर ठोस दबाव पसंद है तो यह मुद्रा आपके लिए काफी फायदेमंद है। अपनी जाँघों की मदद से कुर्सी के हाथ को जकड़ लें और अपने साथी को डॉगी स्टाइल की मुद्रा में खुद के अन्दर पीछे से प्रवेश करने दें। सिर्फ इस बात का ध्यान रखें कि कोई कुर्सी टूट ना जाए।

गेट टू द जी स्पॉट (Get to the G-spot)

करने की विधि (The method)

अपनी पीठ के बल लेट जाएं और अपनी छाती के पास अपने घुटनों को ले आएं। अपनी योनि में एक या दो उंगलियाँ प्रवेश करवाएं। जैसे ही उंगलियाँ निकाल रही हों, अपनी योनि तथा गर्भाशय के सामने की ओर दबाएँ और इसके बाद उस ऊँगली को मोड लें।

फायदा (Advantage)

इस मुद्रा से आपको अचानक काफी तेज़ पेशाब आने की भावना आएगी, पर बार बार अभ्यास करने से आपको एक सुकून भरा अनुभव होगा। उत्तेजना में भिन्नता लाने के लिए एक पैर को आगे करके अपने छाती की तरफ सिर्फ एक पैर को मोड़ने की कोशिश करें।

टैप डांस (Tap dance)

करने की विधि (The method)

एक तरफ सो जाएं जिससे एक पैर आगे की तारफ हो और एक पैर मुड़ा हो। एक हाथ से अपने जननांग की मुड़ी परत को हटाएं और अपने क्लिटोरिस में एक बूँद तेल की लगाएं। अब अपने दूसरे हाथ से इसे प्यार से सहलाना शुरू कर दें।

फायदा (Advantage)

जिन्हें सीधी उत्तेजना सहन नहीं होती, उनके लिए रगड़ने की जगह हलके हाथों से सहलाने पर तुरंत और गहरी उत्तेजना होती है। जोर से तथा तेज़ी से सहलाने पर कई तरह की उत्तेजनाएं होती हैं। इस बात की परीक्षा करें कि आप कितनी देर तक इसे सह सकती हैं या फिर अपने साथी को अपने साथ शामिल होने के लिए कहें।

लुक एंड लर्न (Look and Learn)

करने की विधि (The method)

हाथ से एक आईना पकड़कर एक आरामदायक कुर्सी पर बैठें तथा एक पैर को उठाकर बिस्तर पर रखें। अब जबकि माहौल बनना शुरू हो गया है तो अपनी संवेदनशील क्लिटोरिस को छोड़कर अन्य उत्तेजक भागों की खोज करें। अपनी योनि के सामने के भाग, भीतर के भाग और पिछली दीवार का मुआयना करें। इसपर तब तक दबाव डालते रहें जब तक कि आपको एक तरह की संतुष्टि का अनुभव ना होने लगे।

फायदा (Advantage)

संभोग की इस मुद्रा से आपको एक नया दृष्टिकोण प्राप्त होगा। आपको एक नया उत्तेजक अंग मिलेगा, जो उन महिलाओं के तनाव को दूर करने में काफी सहायक सिद्ध होता है जिनका वीर्यस्त्राव किसी एक ख़ास कोन या मुद्रा से ही होता है। इस मुद्रा का प्रयोग किसी खिलौने या अपने साथी के साथ करें और उसे सीशेल या बटर चर्नर की मुद्रा से अपने अन्दर प्रवेश करने के लिए कहें।