Sex positions desire for guys – पुरुषों पर सम्भोग की अलग अलग मुद्राओं से पड़ता है क्या प्रभाव?

इस बात की काफी संभावना है कि आपने अपनी पसंदीदा सम्भोग की मुद्राओं की अलग अलग श्रेणियां बना रखी हों। शायद एक महिला के आपके ऊपर आने की मुद्रा आपको काफी कामुकता का अहसास करा जाती है, पर डॉगी स्टाइल (doggy style) की मुद्रा से सम्भोग करने के बाद शायद आपको अपनी गर्भाशय ग्रीवा में चोट लगने का डर सता रहा हो। पुरुषों के लिए भी स्थिति एक समान ही होती है। नीचे सम्भोग के दौरान पुरुषों के मन में चलने वाले ख्यालों की एक झांकी प्रस्तुत की गयी है।

मिशनरी (Missionary)

पुरुषों की राय

  • यह एक सदाबहार मुद्रा है। मुझे इस मुद्रा से सम्भोग शुरू करना सबसे ज़्यादा पसंद है, क्योंकि इसके साथ सम्भोग का पहला आनंद लेने की अनुभूति जुड़ी हुई है। इस मुद्रा का प्रयोग करके शारीरिक आनंद प्राप्त करने जैसा कुछ नहीं है। इससे मैं यह सोचने पर मजबूर होता हूँ कि मनुष्य किसी कारण से इस प्रकार से सम्भोग करने के लिए तैयार किये गए हैं। इसके अलावा, अगर मैं काफी जल्दी वीर्यस्त्राव के नज़दीक पहुँच जाता हूँ, तो मैं सिर्फ इस मुद्रा के नाम के बारे में सोचने लगता हूँ। इससे मुझे काफी मदद मिलती है। मिशनरी – कामुक मुद्रा और उतना ही अनाकर्षक नाम।
  • यह काफी पुरानी तथा भरोसेमंद मुद्रा है। वैसे मुझे लगता है कि इसका प्रयोग ज़रुरत से ज़्यादा किया गया है, पर इससे कई तरह के अच्छे काम होते हैं। यह एक ऐसी मुद्रा है जिसमें मैं खुद को सबसे ज़्यादा नियंत्रण में महसूस करता हूँ। इसका कारण शायद यह हो सकता है कि इसका प्रयोग इतनी बार किया जा चुका है कि इसमें कुछ भी नया नहीं लगता। मैं चरम उत्तेजना (orgasm) के चरण तक पहुँचने के लिए भी पूरी तरह सक्षम हूँ और इससे मुझे कोई आपत्ति भी नहीं है। यह तब भी एक अच्छी मुद्रा साबित होती है, जब आप किसी ऐसी युवती के साथ हों जिसे इसका बिल्कुल भी अनुभव नहीं है। उन्हें तब ज़्यादा सुविधा महसूस होती है जब आप उनके ऊपर होते हैं और सारी प्रक्रिया को अंजाम देते हैं। इस मुद्रा का एक नुकसान यह है कि कई बार महिलाओं को यह लगता है कि इसमें उनका काम सिर्फ लेटकर खुद को अच्छा महसूस करवाना है। यह बात बिलकुल सच है कि एक महिला का संतुष्टि से भरा चेहरा देखने में काफी आनंद आता है, पर जब आप अपनी पीठ के बल हों तो और भी कई चीज़ें की जा सकती हैं। सिर्फ अपनी पीठ के बल होने का यह अर्थ नहीं है कि आप अब कुछ नहीं कर सकते। आप अपने हाथों, होंठों और आवाज़ आदि का प्रयोग कर सकते हैं।
  • मैं इस मुद्रा का काफी प्रयोग करता हूँ। जब मुझे कोई चीज़ बाहर निकालनी होती है तो मैं इसका इस्तेमाल करता हूँ। मुझे मिशनरी से यह समस्या है कि ऐसा लगता है जैसे शरीर के निचले हिस्से में दबाव डालने के फलस्वरूप आई कसावट को ढीला करने में महिलाएं कुछ नहीं कर सकतीं, और मैं भी इस मुद्रा का प्रयोग कुछ ख़ास करने के लिए नहीं कर सकता। यह तब काफी अच्छा साबित होता है जब आपके मन में प्रेम की भावना उमड़ रही हो और आप खासकर सम्भोग की प्रक्रिया की समाप्ति के समय उनकी आँखों में देखना पसंद करते हों।
  • यह मुद्रा काफी चंचल और अस्थिर करने वाली साबित होती है। इसका अनुभव काफी खराब और पूरी तरह से बेहतरीन भी हो सकता है। अपने प्रेमी की आँखों में देखना और उसमें ख़ुशी या शर्म का भाव देख पाना एक ऐसा क्षण होता है जब आपके मन में भरोसे या डर में से एक भावना होती है। एक बार अपने प्यार का इज़हार करने के बाद पहली बार के सम्भोग के विकल्प के रूप में यह काफी अच्छा सिद्ध होता है।

डॉगी स्टाइल (Doggy Style)

पुरुषों की राय

  • यह मुझे कठोर और गंदा लगता है, पर एक अच्छे रूप में। मुझे यह काफी अच्छा लगता है क्योंकि इसमें मुझे उसकी पूरी पीठ दिखती है। इसके अलावा इस मुद्रा के अन्तर्गत अगर सही प्रकार से थप्पड़ मारने की आवाज़ निकाली जाए तो यह काफी कामुक साबित होती है। अगर आप अपनी प्रेमिका के साथ एक प्रेम भरी रात बिताना चाहते हैं तो यह मुद्रा आपके लिए सही विकल्प नहीं है।
  • डॉगी स्टाइल की प्रक्रिया में आपको मिशनरी की तरह नियंत्रण तो प्राप्त नहीं होता, पर इसके बदले में आपको एक खूबसूरत दृश्य अवश्य देखने को मिलता है। एक महिला के साथ सम्भोग करते समय उसके कूल्हों और पृष्ठ भाग से बेहतर दृश्य कुछ और नहीं हो सकता। इस तरह किसी के साथ सम्भोग करने की अनूभूति काफी कामुक होती है। कुछ लोग कहते हैं कि इससे वे शक्तिशाली अनुभव करते हैं, पर मुझे नहीं लगता यह सही शब्द होगा। मुझे लगता है जंगली ज़्यादा बेहतर शब्द है।
  • बेहतरीन। यह सिर्फ उसके कूल्हों का मुझसे टकराने तक ही सीमित नहीं है, पर इसके अलावा मेरा आगे झुककर उसके स्तनों तक पहुंचना, उसके पृष्ठभाग को अच्छे से देखना तथा उसे पकड़कर सम्भोग की प्रक्रिया को कामुक तरीके से संपन्न करना तथा हर प्रकार से उसे संतुष्ट करना भी मुख्य है। मुझे इसका नियंत्रण काफी पसंद है। मुझे लगता है कि यह प्रक्रिया सारे बंधनों को तोड़ने वाली तथा हम सबके अंदर के जानवर को बाहर निकालने वाली है। इसके अलावा यह इस बात की भी परीक्षा है कि आप कितनी देर तक और कितनी ज़ोर से इस प्रक्रिया को अंजाम दे सकते हैं।
  • पुरुषों के हावी होने की इससे प्रभावी मुद्रा और हो ही नहीं सकती। मैं गति, गहराई और लड़की पर आमतौर पर नियंत्रण रखता हूँ। कामुक भाव से मारना, चिल्लाना तथा बालों के खींचने को काफी प्रोत्साहित किया जाता है और यह हमारे आत्मसम्मान में बढ़ोत्तरी करता है। मैं यह उम्मीद करता हूँ कि मेरे और उसके गुप्तांगों के आपस में बार बार टकराने से उसे भी काफी आनंद आता होगा। शनिवार की नशीली रातों के लिए यह काफी अच्छा है।

महिला के ऊपर रहने की मुद्रा (Girl on Top)

पुरुषों की राय

  • यह मेरी पसंदीदा मुद्रा है। इस मुद्रा में ऐसा लगता है कि सम्भोग करते हुए मैं काफी गहराई तक जा सकता हूँ और वह भी पीछे की तरफ होकर नियंत्रण बनाकर रख सकती है। इससे मुझे इस प्रक्रिया के ज़रुरत से ज़्यादा चलने के बारे में चिंता नहीं करनी पड़ती। इस प्रक्रिया को संपन्न करते हुए मैं कई अच्छी जगहों पर अपना हाथ रख सकता हूँ – उसके चेहरे को अपने दोनों हाथों से पकड़ना, उसके स्तनों को सहलाना, उसके मेरे ऊपर रहने के दौरान कोनों से उसे खींचना आदि।
  • जब से गेम ऑफ़ थ्रोन्स (Game of Thrones) देखना शुरू किया है, यह मुद्रा मुझे डेनीरिस (Daenerys) की याद दिलाती है। वह दृश्य जब खाल ड्रोगो (Khal Drogo) डॉगी स्टाइल से सम्भोग की कोशिश करता है और वह उसे रोककर कहती है – ‘आज मैं तुम्हारे चेहरे की ओर देखूंगी। ‘ मुझे वह लड़की पसंद है जो ऊपर रहना पसंद करती है। यह आत्मविश्वास को दर्शाता है तथा इससे मेरा उसके प्रति आकर्षण भी बढ़ता है। वैसे तो इस मुद्रा से मुझे चरम उत्तेजना की प्राप्ति काफी कम ही होती है, पर इसकी मदद से मैं उस चरण तक बाद में पहुँच सकता हूँ, क्योंकि इससे मुझे अपने साथी के प्रति आकर्षित होने में मदद मिलती है।
  • यह मुद्रा मुझे इससे दिखने वाले दृश्यों की वजह से काफी पसंद है। यहां से स्तन काफी कामुक दिखाई पड़ते हैं। पर आप उस सम्भोग का कितना मज़ा ले सकते हैं, जिसके दौरान आप यह सोच रहे होते हैं कि अगली बार जब आप अपने उन पड़ोसियों से मिलेंगे जो आपके नीचे रहते हैं, तो कितना अजीब होगा ! काऊगर्ल (Cowgirl) सबसे ज़्यादा शोरशराबे की मुद्रा है, क्योंकि इससे ज़मीन हिलता हुआ प्रतीत होता है। अन्य मुद्राओं के साथ मैं अपने वज़न को नियंत्रित कर लेता हूँ जिससे ऐसा प्रतीत ना हो कि हम बास्केटबॉल (basketball) खेल रहे हैं।
  • महिलाओं के ऊपर रहने की मुद्रा काफी बेहतरीन होती है, क्योंकि यह किसी अद्भुत कार्यक्रम की तरह मनोरंजन से भरपूर होती है। मुझे हर चीज़ को उछलता हुआ देखने के सिवा कुछ ख़ास नहीं करना होता। मैं इसके दौरान आलसी बन सकता हूँ, पर फिर भी अचानक एक झटके की मदद से मैं आश्चर्यचकित करने की भी क्षमता रखता हूँ। मैं इस मुद्रा के अन्तर्गत अपनी साथी को पूरी आज़ादी देता हूँ। रविवार की सुबहों के लिए यह मुद्रा काफी अच्छी साबित होती है।

रिवर्स काऊगर्ल (Reverse Cowgirl)

पुरुषों की राय

  • यह मुद्रा डॉगी स्टाइल के दौरान दिखने वाले दृश्यों और एक महिला के आपके ऊपर होने के फलस्वरूप होने वाली गहराई और उत्सुकता का मिश्रण है। लेकिन इस मुद्रा के प्रयोग से मेरे गुप्तांग को काफी ख़तरा हो सकता है क्योंकि यह उतना लचीला नहीं है। जी हाँ, मैं धीरे धीरे इस मुद्रा का आनंद अवश्य ले सकता हूँ, पर आप ही सोचिये कि रिवर्स काऊगर्ल की मांग रखने वाली कितनी महिलाएं धीरे धीरे इस प्रक्रिया में लिप्त होना पसंद करेंगी!
  • मुझे इस मुद्रा का ज़्यादा अनुभव नहीं है। यहां से सबकुछ काफी अच्छा दिखता है और यह बाकियों से अलग भी है जिससे इसकी कामुकता में इज़ाफ़ा होता है। यह डॉगी स्टाइल का कम जंगली संस्करण है। मुझे लगता है कि मुझे यह अच्छा ना लगने का एक कारण यह भी है कि मुझे ऐसी किसी महिला का साथ नहीं मिला जो इसे अच्छे से कर सकती हो। शायद और किस्मत से यह स्थिति बदलेगी।
  • मैं इसका प्रशंसक नहीं हूँ। अगर आपकी साथी इस मुद्रा का प्रयोग करे और उछाल की पराकाष्ठा पर आकार उसे जोश आ जाए तो मेरे गुप्तांग को काफी नुकसान पहुँच सकता है। अगर वह ज़ोर से नीचे आयी और कुछ हो गया तो मेरे गुप्तांग को चिकित्सा की आवश्यकता पड़ेगी। जब भी मैं मन में अपने गुप्तांग को हो सकने वाले नुकसान के बारे में सोचता हूँ तो मेरी सारी इच्छा चली जाती है।
  • यह महिला के ऊपर होने की मुद्रा से ज़्यादा मुश्किल है, पर फिर भी मैं सम्भोग की प्रक्रिया आसानी से संपन्न कर सकता हूँ। मुझे यह बात पसंद है कि मेरे हाथ मारने, पकड़ने और अन्य कामों के लिए स्वतंत्र होते हैं। यह मेरा पसंदीदा तो नहीं है, पर इसे इस तरह से इस्तेमाल किया जा सकता है कि आप दोनों का वीर्यस्राव एक साथ हो।

स्पूनिंग (Spooning)

पुरुषों की राय

  • अगर मुझे ज़्यादा करीबी रिश्ते का मन ना हो तो यह काफी मुश्किल होता है। वैसे अगर देखा जाए तो स्पूनिंग काफी बेहतरीन मुद्रा होती है और संभोग में जोश एवं वासना की भावना को बाहर लेकर आती है। जब आपके शरीर का अधिकतर भाग अपनी साथी के शरीर से लगा होता है तो इसका नतीजा गर्माहट से भरा ही होता है।
  • मुझे लगता है कि आप स्पूनिंग की मुद्रा में रहते हुए भी संभोग कर सकते हैं। पर अगर असल में कहूं तो मैंने ऐसा ज़्यादा किया नहीं है। मै ज़्यादा स्पूनिंग या गले लगाने जैसी प्रक्रियाओं में विश्वास नहीं रखता। असल में जब बात स्पूनिंग की आती है तो मैं छोटी स्पूनिंग में विश्वास रखता हूँ। मुझे नहीं लगता कि ज़्यादातर लोग ऐसा करते होंगे, पर मुझे यही पसंद है।
  • इसमें उत्तोलन (leverage) या दबाव डालने की विधा कहाँ है? इसमें दबाने लायक कुछ भी नहीं होता। मैं 10 या 20 बार से ज़्यादा इसे नहीं कर सकता।
  • यह काफी बेहतरीन प्रक्रिया है क्योंकि मैं संभोग के शुरूआती पलों के तौर पर लम्बे और धीमे झटके दे सकता हूँ। मुझे यह बात भी पसंद है कि मेरे हाथ और मुंह उसे लुभाने एवं आकर्षित करने के लिए स्वतंत्र होते हैं। मैं इसे आगे बढ़ने से पहले संभोग के पहले की क्रियाओं के दूसरे चरण के रूप में देखता हूँ। मुझे यह अनुभूति पसंद है, इस क्रिया से नफरत है तथा इसके नतीजे तथा प्रक्रिया को लेकर कोई परेशानी नहीं है। यह बुधवार की डेट नाईट (date night) के लिए काफी अच्छा साबित हो सकता है।

अतिरिक्त मुद्राएं (Bonus Round)

पुरुषों की राय

  • मेरी पसंदीदा मुद्राओं में से एक वह मुद्रा है जिसमें मैं बिस्तर के कोने में खड़ा होता हूँ और मेरी साथी लेटी रहती है। मैं मुख्य रूप से उसके पैरों को फैलाकर खड़े खड़े संभोग की क्रिया को अंजाम देता हूँ। इससे दोनों के लिए सामने के दृश्य काफी बेहतरीन होते हैं। वह मेरे शरीर को उसको संतुष्ट करते हुए देख पाती है और मैं उसके लोचदार पैरों को अपने सामने खुले हुए देखता हूँ तथा संभोग के दौरान उसके स्तनों की हरकतों पर भी ध्यान जाता है। यह काफी खूबसूरत याद है।
  • स्पूनिंग मेरी पसंदीदा मुद्रा की ओर जाने का एक माध्यम मात्र है। इसके अंतर्गत पुरुष महिला के ऊपर होता है। दोनों का चेहरा नीचे की ओर ओता है, ठीक डॉगी स्टाइल की तरह। इससे आपको स्तनों तक पहुँचने में काफी आसानी होती है। आप इसकी मदद से महिला के जननांगों तक भी पहुँच सकते हैं। महिला भी आसानी से अपने निचले अंग को ढीलेपन या कसावट से युक्त कर सकती है। यह संभोग की समाप्ति का भी एक अच्छा तरीका है।
  • मेरी पसंदीदा मुद्रा को मैं बंदरों से प्रेरित मानता हूँ। यह काफी कामुक और जंगली तरीका है। महिला को उठाकर दीवार से लगाना और इसके बाद उसके आठ संभोग की प्रक्रिया को करना दोनों की कामोत्तेजना में काफी बढ़ोत्तरी करता है  इससे आपको आपकी शक्ति का अहसास होता है और जब ज़्यादा दबाव और थकान की वजह से आपका वीर्यस्त्राव होता है तो आपको काफी ख़ुशी महसूस होती है। यह साथ नहाते हुए काफी अच्छे से किया जा सकता है।