Things guys think about when you’re on top – सेक्स के दौरान आपके ऊपर रहने के समय पुरुषों के मन में आने वाले विचार

क्या कभी आपने सम्भोग के दौरान ऊपर चढ़ी हुई अवस्था में नीचे लेटे अपने साथी को देखा तथा यह पाया है कि वह किसी गहरी चिंता में मग्न है? यह कोई ज़्यादा अजीब बात नहीं है। जब एक महिला किसी पुरुष के ऊपर होती है, तो उस पुरुष को शारीरिक श्रम के नाम पर कुछ ख़ास नहीं करना होता और इससे वह अपने दिमाग के घोड़ों को इधर उधर दौड़ाने को स्वतंत्र होता है। यह सारी चीज़ों के बारे में अच्छे से सोचने समझने के लिए काफी अच्छी मुद्रा है। वैसे तो अन्य सारी मुद्राएं भी हमें काफी पसंद हैं, पर मिशनरी की मुद्रा की बात ही कुछ और होती है।

नीचे उन 7 चीज़ों के बारे में बताया गया है, जो कि एक महिला के उनके ऊपर रहने के दौरान उनके मन में चलती रहती है।

कुछ देर का आराम (Short break)

ज़्यादातर पुरुष काउगर्ल (cowgirl) मुद्रा को काफी पसंद करते हैं क्योंकि या तो वे काफी थक चुके होते हैं और या तो वे समय से पहले वीर्यस्त्राव के काफी नज़दीक होते हैं। इन दोनों ही अवस्थाओं में पुरुषों को कुछ देर के आराम की आवश्यकता होती है। अतः इस मुद्रा की वजह से पुरुषों को सांस लेने की फुरसत मिल जाती है।

स्तनों का दृश्य (Breasts access)

और कोई भी मुद्रा आपको स्तनों का इतना विहंगम दृश्य उपलब्ध नहीं करवा पाती।

हाथों का भरपूर इस्तेमाल (Effective use of hands)

एक महिला के बीचे रहने से आपको कई प्रकार के विकल्प उपलब्ध होते हैं – पृष्ठभाग को सहलाना, जननांगों में उत्तेजना पैदा करना, आपके बालों और चेहरे का प्रयोग करके काम क्रिया करना, हाथों को पकड़ना आदि कई प्रकार के कार्य किये जा सकते हैं।

आलसियों के लिए सर्वश्रेष्ठ

आपके मन में इस मुद्रा के दौरान यह ख्याल अवश्य आता होगा कि आप इस तरह कई दिनों तक रह सकते हैं। यह बात हम सभी जानते हैं कि आलस्यपूर्ण सम्भोग सबसे प्रभावशाली होता है।

गुप्तांगों को ख़तरा (Danger for the penis)

एक पुरुष के मन में एक महिला के ऊपर होने के दौरान एक बात हमेशा चलती रहती है कि इस दौरान उसके गुप्तांगों के साथ कुछ बुरा ना हो जाए। अगर मुद्रा का पालन करने में थोड़ी सी भी गलती हुई तो एक पुरुष का सर्वस्व लुटने की नौबत आ जाती है। अगर आप सम्भोग के दौरान गुप्तांगों को हुए नुकसान के कारणों की जांच करें तो आप पाएंगे कि इसमें इस मुद्रा का काफी बड़ा हाथ है।

मन की आँखों से देखना (Fitting a mental camera record proceedings)

आप शायद यह कह सकते हैं कि हमारे दृष्टिकोण से इस मुद्रा का कोण ज़्यादा आकर्षक नहीं है, पर हममें से कई लोग इस बात को नहीं मानते। हम अपनी मन की आँखों से इस मुद्रा के अन्तर्गत हो रही  सम्भोग की सारी विधाओं को आत्मसात कर रहे होते हैं।

मैं अपनी बारी के लिए भी तैयार हूँ (I’m ready for my turn)

बेहतरीन सम्भोग की प्रक्रिया कई चीज़ों का मिश्रण होती है। मुद्राओं की अदल बदल, काफी मात्रा में वीर्यस्त्राव जो कामुकता और जोश की निशानी है और सबसे अंत में शरीर को चुस्ती फुर्ती देने के लिए थोड़ा खानपान। एक महिला का पुरुष के ऊपर सम्भोग की अवस्था में रहना पुरुष को काफी अच्छा लगता है, पर हम इस दौरान यह भी सोचते हैं कि अगर आप मुद्रा में परिवर्तन करना चाहती हैं तो हम इसके लिए भी तैयार हैं।